Wednesday, August 26, 2020

तेरा साथ अब अगले जन्म के लिए बाकी है........


 रोक लेता हूं यूं ही खुद को, 
क्योंकि मेरे हाथ में तेरा हाथ होना, 
अब अगले जन्म के लिए बाकी है।

 बैठ जाता हूं तन्हा यूं ही,
 क्योंकि हमारे रास्तों का एक होना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

सोचता हूं काश यह एक तरफा इश्क होता,
 क्योंकि हमारे दिलों का एक होना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

Delete

कहता हूं तुम्हें खुद से दूर जाने को,
 क्योंकि हमारा एक साथ रहना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

रोकता हूं दिल में बेइंतेहा इश्क का तूफान,
 क्योंकि इस मोहब्बत को ब्यान करना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

पिरो के रखना चाहता हूं साथ बिताए पलों को,
 क्योंकि हमारा साथ - साथ वक्त बिताना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

रुक सा गया है बारिशों में देर रात बातों का सिलसिला,
 क्योंकि तेरी बातों को महसूस करना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

भूल गया हूं तेरे बगैर खुद से रूठना,
 क्योंकि तेरा मुझे मनाना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

उड चुकी है हमारे लबों की हंसी,
 क्योंकि हमारे अश्कों का रुकना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

 खो सी गई है आंखों में नींद मेरे,
 क्योंकि नींद में तेरे सपने देखना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

ठीक नहीं तेरा मुझसे यूं बेइंतेहा प्यार करना,
 क्योंकि हमारा एक दूसरे से मिलने का इंतजार,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

इस जन्म में हमारा बिछड़ना तय है,
 क्योंकि तेरा मुझसे मिलना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

हो सके तो भुला देना मुझे,
 क्योंकि दिल में तेरे मेरी याद का आना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।


हमारा एक दूसरे से दूर जाना ठीक है,
 क्योंकि जिंदगी की एक मजबूरी का दूर होना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।

रोक लेता हूं यूं ही खुद को,
 क्योंकि मेरे हाथ में तेरा हाथ होना,
 अब अगले जन्म के लिए बाकी है….
 मेरे हाथ में तेरा हाथ होना 
अब अगले जन्म के लिए बाकी है ।।

©www.dynamicviews.co.in

12 comments: