Welcome To Dynamic Views

Tuesday, May 28, 2019

अक्सर देर कर देता हूं मैं ............


जाना हो कहीं वक्त से ,
पहुंचना हो किसी जगह वक्त पे,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

जीना हो जी भर  किसी की खुशी में ,
हंसना हो दिल खोलकर किसी की मस्ती में ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l


©www.dynamicviews.co.in


देना हो साथ किसी का बुरे वक्त में ,
थामना हो हाथ किसी का मुश्किल में ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l


रोकना हो आंसुओं को किसी का दर्द देखकर,
समेटना हो बिखरी उम्मीदों को किसी के हालात देखकर ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

पहचानना हो भीड़ में कोई अपना ,
या आजमाना हो जमाने में कोई पराया ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

जोड़ना हो कोई रिश्ता आज से ,
तोड़ना हो कोई नाता कल से ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

कहनी हो दिल की बात किसी से ,
सांझा करने हो दिल के जज्बात किसी से ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

छुपाना हो किसी के प्यार को जमाने से ,
भुलाना हो किसी की यादों को दिल में आने से ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l


किसी से जरूरी बात कहनी हो ,
या फिर किसी से किया वादा निभाना हो ,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं l

उसे आवाज देनी हो ,
या फिर उसे वापस बुलाना हो,
तो अक्सर देर कर देता हूं मैं …
...तो अक्सर देर कर देता हूं मैं ll


©www.dynamicviews.co.in

4 comments: